आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत और पाकिस्तान दोनों देश एक साथ ही अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुए थे। फिर ऐसा क्यों है की भारत अपना स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त और पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस ठीक एक दिन पहले 14 अगस्त को मनाता है।

आपको बता दें की ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमन्स में भारत का स्वतंत्रता बिल 4 जुलाई 1947 को प्रस्तुत किया गया था। इस बिल में ही भारत के बंटवारे अर्थात् पाकिस्तान बनाए जाने की मांग की गई। इसके पश्चात इस बिल को 18 जुलाई को स्वीकृति दे दी गई। अब 14 अगस्त को आधी रात में दोनों देशों को अलग अलग कर दिया गया। तभी से पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को जबकि भारत 15 अगस्त को मनाता है।

पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को मनाए जाने का मुख्य कारण

पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस एक दिन पहले मनाए जाने का कारण यह था कि स्वतंत्रता कानून पर 15 अगस्त 1947 को नई दिल्ली में 00:00 बजे (IST) या 05: 30 बजे (GMT) हस्ताक्षर किए गए थे। कहा जाता है कि पाकिस्तान का वक्त भारत से 30 मिनट आगे हैं इसलिए जब स्वतंत्रता कानून पर हस्ताक्षर किए गए थे उस समय पाकिस्तान में 14 अगस्त का दिन था और भारत में 15 अगस्त का।

इसके अलावा दूसरा कारण यह था कि जिस साल हमारा देश आजाद हुआ उस साल 14 अगस्त को इस्लामिक माह रमजान के अंतिम शुक्रवार तथा 27बां दिन अर्थात शब-ए-कद्र का था। यह रात मुसलमान लोगों में अत्यंत पाक रात मानी जाती है।जिस कारण वे अपना स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को मनाते हैं।

आपको बता दे कि 1948 तक जितने भी डाक टिकट पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए सब में स्वतंत्रता की तारीख 14 अगस्त नहीं बल्कि 15 अगस्त उल्लेखित थी। परंतु ठीक उसी वर्ष से पाकिस्तानी अपना स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को मनाना शुरू कर दी।

Previous articleइस बार ऐसे करें दोस्तो ओर रिश्तेदारों को Independence विश
Next articleजाह्नवी कपूर के ये लुक्स कर देंगे दीवाना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here