हमारे 200 सालों से गुलाम भारत की आजादी की लड़ाई में अनेक लोगों ने हंसते हंसते मौत को गले लगा लिया। ऐसे में इस काम में सिर्फ भारत के पुरुषों ने ही नहीं बल्कि महिलाओं ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया है। आज हमारे देश को आजाद हुए कुल 75 साल हो चुके हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी महिला स्वतन्त्रता सेनानी के बारे में बताएंगे जिन्होंने भारत की आज़ादी में हिस्सा लिया और आज हम जिन्हें भूल बैठे हैं।

तारा रानी श्रीवास्तव

तारा रानी का जन्म बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। तारा के दिल में बचपन से अपने देश को अंग्रेजो से आजादी दिलाने की इच्छा थी। इनका विवाह कम उम्र में फुलेंदु बाबू नामक एक स्वतन्त्रता सेनानी से हो गया। इसके बाद वो भी अपने पति के साथ आज़ादी की लड़ाई में हिस्सा लेती।  जब 8 अगस्त 1942 को हुए गांधी जी के ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ का आगाज किया गया तो तारा देवी और उनके पति ने भी हिस्सा लिया। जिसमेंं पोलिस के विरोध के दौरान गोली लगने से उनके पति की मौत हो गई। इसके बाद भी तारा रानी ने हिम्मत नहीं हारी और आंदोलन में भाग लिया। देश आजाद होने तक वे लगातार आजादी के लिए लड़ती रही।

कमला देवी चटोपाध्याय

कमलादेवी जी 27वर्ष की उम्र में 1857 की क्रांति का हिस्सा बनी थीं। इसके बाद जब गांधी जी ने नमक आंदोलन का प्रारंभ किया उस समय महिलाएं आंदोलन में हिस्सा नहीं लेती थी। परंतु कमला देवी ने अपने तर्कों से गांधी जी को राजी कर लिया। जिसके बाद गांधी जी ने इस आंदोलन में महिला और पुरुषों को बराबरी की जगह दे दी। इन्होंने अपना पूरा जीवन समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी के रूप में बिताया। अपने जीवनकाल में उन्हें कई बार जेल भी जाना पड़ा। उन्होंने 5 सालों तक जेल की यातनाएं झेली।

मातंगिनी हाजरा

मातंगिनी हाजरा जी गांधी जी से बहुत प्रभावित थी। अपनी 72 वर्ष की उम्र में भी इन्होंने अंग्रेजों का डट कर सामना किया। इन्होंने असहयोग आन्दोलन और भारत छोड़ो आंदोलन में हिस्सा लिया।  उन्होंने 1942 को अंग्रेजों के खिलाफ एक तमलूक के थाने पर जुलूस के साथ धावा बोल दिया। अंग्रेजी सरकार ने उन्हें रोकने की काफी कोशिश की, लेकिन वह अपने इरादों पर डटी रहीं। इसी दौरान पोलिस ने उन पर गोलियां दागना शुरू कर दीं। सबसे गर्व की बात यह थी कि उन्होंने अपने हाथ में थामा हुआ तिरंगा जमीन पर नहीं गिरने दिया और आखरी सांस तक वंदे मातरम का नारा लगाती रहीं।

Previous articleIndian Idol 12 Comes To An End With Grand Celebration: Pics
Next article27 अगस्त को रिलीज होगी हिंदी फिल्म जगत के महानायक अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी की नई फिल्म

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here