भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनिंग बल्लेबाज शिखर धवन और उनकी पत्नी आयशा मुखर्जी का शादी के नौ साल के बाद तलक हो गया है। इस बात की पुष्टि आयशा ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट डाल कर को है। अभी तक शिखर धवन की तरफ से कोई न्यूज नहीं आई है। आपको बता दें दोनो के रिश्ते में खटास को लेकर कुछ वक्त से खबरे आ रही थी। दोनो ने 2009 के सगाई और साल 2012 में शादी की थी।

तलाक को लेकर आयशा मुखर्जी की पोस्ट

तलाक को लेकर आयशा लिखती हैं,” हास्यास्पद है ना कि शब्दों के कितने शक्तिशाली अर्थ और जुड़ाव होते हैं। पहली बार जब तलाकशुदा हुई थी, तो इस बात का अनुभव किया था। जब पहली बार मेरा तलाक हुआ था तो मैं बहुत डरी हुई थी और तबाह हो गई थी। मुझे लग रहा था कि मैं नाकामयाब हो गई और तब मैं गलत कर रही थी।”

“मुझे लग रहा था कि मैंने सबको नीचा दिखाया है और मतलबी महसूस करने लगी थी। पहली बार तलाक के बाद मुझे लगता था कि मैंने अपने माता-पिता और बच्चों को निराश किया है। मुझे तो यहां तक लगने लगा था कि मैंने भगवान को भी नीचा दिखा रही हूं। लगता था तलाक वाकई बहुत गंदा शब्द है।”

“अब आप कल्पना कर सकते हैं कि मुझे इससे दूसरी बार गुजरना पड़ रहा है। आह….. ये भयावह है। पहली बार तलाक होने के बाद मुझे लगता है कि दूसरी बार में कुछ ज्यादा ही दांव पर लगा है। मुझे और ज्यादा साबित करना है। अब मेरी दूसरी शादी भी टूट गई है तो ये काफी डराने वाला है। पहली बार के तलाक में जिस तरह के अहसास थे, वो सब एक बार फिर लौट रहे हैं। डर, नाकामी और निराशा को 100 से गुणा कर दीजिए। इसके मेरे लिए क्या मायने हैं? ये मुझे और शादी से मेरे रिश्ते को किस तरह से परिभाषित करेगा?”

“अभी जो हुआ है, उसकी जरूरी प्रक्रियाएं हो जाने के बाद और इन भावनाओं से गुजरने के बाद जब मैं बैठने की स्थिति में हो जाऊंगी तो मैं देखूंगी कि मैं ठीक थी। मैं वाकई शानदार काम कर रही थी और यह भी देखूंगी कि मेरा डर पूरी तरह से गायब हो गया है। गौर करने वाली बात ये है कि मैं वास्तव में ज्यादा ताकतवर महसूस कर रही हूं। मैंने अपने भय को पहचाना और तलाक शब्द के जो मायने मैंने दिए हैं, वो मेरी करनी थी।”

“तो, जब मैंने ये अहसास कर लिया तो मैंने इस शब्द और तलाक के अनुभव को उस तरह से दोबारा परिभाषित करना शुरू किया, जैसे मैंने इसे देखा और इसका अनुभव किया। मेरे लिए तलाक का मतलब खुद को चुनना है। शादी बचाने की खातिर समझौता और अपनी जिंदगी का बलिदान नहीं करना है।तलाक का मतलब भले ही आप सर्वश्रेष्ठ कर रहे हों और अपनी बेस्ट चीजें करने की कोशिश कर रहे हों पर कभी-कभी ये काम नहीं करता है। खैर ठीक है। तलाक का मतलब… मैंने जितना सोचा था, उससे कहीं ज्यादा मजबूत और लचीली हूं। तलाक का मतलब वाकई वही है, जो मायने आप इसे देते हैं। अगर आप तलाक से जूझ रहे हैं और इसलिए किसी रिश्ते को खत्म करने के लिए डर रहे हैं कि आप पर ठप्पा लग जाएगा और आपको तलाकशुदा कहा जाएगा तो जरूर तलाक लीजिए।”

Previous articleMoney Heist Latest volume: professor aka Sergio’s lookalike in Pakistan
Next articleComedy Movies That Will Make You Laugh till Your Stomach Pains

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here