फ़िल्म समाज का आईना है| फ़िल्म की कहानियाँ कभी काल्पनिक होती हैं तो कभी विज्ञान पर आधारित होती हैं| कभी सामाजिक समस्याओं को उजागर करती हैं तो कभी सच्ची घटनाओं पर आधारित होती हैं| समाज को प्रभावित करने में फिल्में एक महत्त्वपूर्ण किरदार निभाती हैं| लेकिन कभी-कभी इन फिल्मों के नैतिकता को समझने के बजाय लोग उनमें दिखाए गए गलत कार्यों को लोग अपनी वास्तविक ज़िंदगी में उतार लेते हैं | फिल्मों के नकारात्मक प्रभाव के ऐसे कई उदाहरण हमें देखने को मिले|

दृश्यम 

दृश्यम फ़िल्म
दृश्यम

ऐसी फिल्मों की सूची में अजय देवगन की फ़िल्म ‘दृश्यम’ का नाम सबसे पहले आता है| यह फ़िल्म दर्शकों के बीच बेहद लोकप्रिय हुई थी| लेकिन कुछ ऐसे भी लोग थे जिन्होंने फ़िल्म के नकारात्मक दृश्यों से प्रेरित होकर हत्या को अंजाम दिया| इसी प्रकार की एक घटना भोपाल में घटित हुई| वहाँ एक महिला ने अपने पति के गुम होने की शिकायत दर्ज करवाई थी| पुलिस कार्यवाही में पता चला कि २५ वर्षीय अमिताभ आदिवासी का मृतक शरीर शहर के हाथीखेड़ा बाँध में तैर रहा था| पुलिस ने ५ आरोपियों को गिरफ़्तार किया| उन्होंने खुलासा किया कि शरीर को ठिकाने लगाने का तरीका उन्होंने दृश्यम मूवी से सीखा|

स्पेशल २६

स्पेशल २६ फ़िल्म
स्पेशल २६

फ़िल्म स्पेशल २६ अक्षय कुमार की है| यह मूवी सन् १९८७ में मुंबई के एक ओपेरा हाउस में हुए लूट पर आधारित है| इस फ़िल्म से प्रेरित होकर हैदराबाद में लूटेरों के एक दल ने एक गोल्ड लोन बैंक में लूट की घटना को अंजाम दिया| उन्होंने अपने आप को सी.बी.आई अफसर बताते हुए कहा कि उनको सूचना मिली है कि काले धन को सोने में बदला गया है| जिसके पश्चात वे ४० किलो सोना लेकर फरार हो गए|

धूम

धूम फ़िल्म

जॉन अब्राहम की फ़िल्म धूम गोवा के एक कसीनो में हुई लूट की वास्तविक घटना पर बनी है| इस फ़िल्म में दिखाए गए लूट की योजना को अपनाते हुए चार लुटेरों ने बैंक ऑफ़ केरल को लूटा| ८० किलो के गहने और साढ़े पाँच लाख रुपए के साथ वे नौ दो ग्यारह हो गए थे| पकड़े जाने के बाद पूछताछ के दौरान दल के मुखिया  ने कहा कि उन्होंने यह योजना धूम फ़िल्म देखकर बनाई|

इसके अलावा ‘खोसला का घोंसला’, ‘बंटी और बबली’, ‘डर’ आदि कई ऐसी फिल्में हैं जिनसे प्रेरित होकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया गया है|

Previous articleजन्मदिन: भूमिका चावला नहीं दिखती पहले जैसी
Next articleरक्षाबंधन का त्योहार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here