भारतीय दूतावास के कुछ अधिकारियों समेत अन्य नागरिकों को लेकर काबुल से रवाना हुआ वायुसेना का विमान गुजरात के जामनगर पहुंच गया। इस विमान से लगभग 120 लोगों को सुरक्षित देश वापस लाया गया है। आपको बता दें कि इन अधिकारियों की लिस्ट में अफगानिस्तान के भारतीय राजदूत रुद्रेंद्र टंडन भी शुमार थे। जामनगर उतरने के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने सबसे पहले भारतीय वायुसेना को धन्यवाद दिया और कहा कि वे हमें असामान्य स्थिति से वापस लेकर आए जो कि बहुत बड़ी बात है।

रुद्रेंद्र टंडन ने आगे कहते है कि ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि हमने अफगानिस्तान के लोगों को छोड़ दिया, बल्कि भविष्य में उनके साथ हमारा रिश्ता हमेशा कायम रहेगा। उनकी मदद के लिए हम हमेशा तैयार रहेंगे। हम उनके साथ अपनी बातचीत जारी रखने की कोशिश भी लगातार कर रहे है। उन्होंने आगे कहा कि हम स्थिति पर लगातार अपनी नजर बनाए हुए है। क्योंकि वहां अभी भी कुछ और भारतीय नागरिक हैं। इसलिए जब तक काबुल में हवाईअड्डा काम कर रहा है। एयर इंडिया काबुल के लिए अपनी वाणिज्यिक सेवाएं भी चलाना जारी रखी जाएगी।

रुद्रेंद्र ने कहा कि वापस लाए गए भारतीय नागरिक अपना रजिस्ट्रेशन नहीं कराते हैं। हमने उन्हें इसकी सलाह दी है कि ये बेहद जरूरी है कि भारतीय नागरिक भारतीय दूतावास में अपना रजिस्ट्रेशन जरूर कराएं। ताकि ऐसे वक्त में हम उन्हें देश वापस लाने में सक्षम हो। उन्होंने यह भी कहा कि अस्थायी रूप से एयर इंडिया को हवाई अड्डे की स्थिति के कारण अपनी वाणिज्यिक सेवाओं को निलंबित करना पड़ रहा है। हालांकि, जो कोई भी वहां फंसा है, उसे किसी तरह से वापस लाया जाएगा और इसके लिए विदेश मंत्रालय ने भी एक हेल्प डेस्क खोला है। उन्होंने कहा कि ऐसे कई भारतीय नागरिक हैं जो बदलती स्थिति के बावजूद भी काबुल शहर में काम करना जारी रखना चाहते थे। लेकिन समझाने के बाद उन्होंने अपना निर्णय बदल दिया है। बता दें कि वाणिज्यिक सेवाएं के शुरू होते ही उन्हें वापस लाया जाएगा।

Previous articleComing soon – बड़े अच्छे लगते है 2
Next articleसाड़ी में परफेक्ट लुक के लिए ध्यान देने वाली बातें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here