अभिनेत्री जूही चावला भले ही फिल्मों से अभी दूर है लेकिन वह बॉलीवुड की काफी सारी धमाकेदार फिल्मों में काम कर चुकी हैं। बता दें स्टार जूही चावला ने 5जी वायरलेस नेटवर्क टेक्नोलॉजी के खिलाफ दया याचिता दायर की थी। अब उन्होंने अपने इंस्टग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर कर बताया कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।

जिसमें उन्होंने सबूत के साथ पूरी जानकारी दी है। वहीं एक्ट्रेस ने कहा कि हमें सिर्फ सरकार की तरफ से एक सर्टिफिकेट चाहिए था कि वो ये बता दें कि इस 5जी टेक्नोलॉजी से लोगों ,बच्चों , बूढ़ों पक्षियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। एक्ट्रेस ने यह भी कहा, ‘2019 में हमने RTI (Proper To Info) के तहत कुछ लेटर भेजे थे। हमने अपने लेटर में इस बात का जवाब मांगा था कि इन नेटवर्क से निकलने वाली रेडिएशन का क्या प्रभाव पड़ता है। जिसके बाद हमें ICMR (Indian Council of Medical Analysis) से जवाब मिला।

फिर हमने यही सवाल SERB (Science and Engineering Analysis Board) से भी किया और हमें वहां से जवाब मिला। वहीं जो सवाल हमने दिल्ली में उठाए उनके जवाब हमारे हाथ थे’। साथ ही उन्होंने यह भी कहां कि 2010 में एक दिन हम अपनी बालकनी में खड़े हुए थे तभी हमने देखा कि हमारे घर के सामने करीब 14 टावर लगे हुए हैं उस समय हमें इसके बारे में कोई जानकारी ही नहीं थी। फिर एक दिन हमने एक मैग्जीन में रेडिएशन के बारे में एक स्टडी देखी।

मैं यह पढ़कर थोड़ा डर गई, उसके बाद मैंने हैदराबाद की एक एंजेसी से इसके लिए संपर्क किया। उन्होंने अपने मीटर से मेरे घर पर उन टॉवर से आने वाले रेडिएशन को चेक किया और पता चला कि यह काफी हाई थी। उन्होंने मुझे इस पर रिपोर्ट भी भेजी थी जिसमें लिखा था कि ये रेडिएशन बहुत नुकसानदायक हैं।

इसके बाद में कुछ जानकार लोगों से मिली, और अपने पड़ोसी की मदद से RTI दाखिल की जिसमें सीधे सवाल किए। फिर हम लोग इसके लिए दिल्ली गए और पार्लियामेंट्री स्टेंडिंग कमिटी के चेयरपर्सन श्री राव इंदरजीत सिंह जी से मिले और इस बारे में डिटेल में बात भी की। जिसके बाद फिर हमने बॉम्बे हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल की, वहां हमें तारीख पर तारीख मिलती रहीं, लेकिन कई कुछ नहीं हुआ।

2019 में तंग आकर हमने फिर से आरटीआई में पत्र लिखे और यही सब पूछा। फिर इसकी के साथ 2020 में 5जी की न्यूज़ और आने लगी….अगर आपको मेरा यकीन नहीं है तो टेलीकॉम डिपार्टमेंट में अपने दोस्तों से पूछ लीजिए की 5जी कितनी खतरनाक है। इसमें रेडिएशन की सारी हदें पार हो जाएंगी। दुनिया का ऐसा कोई भी कोना नहीं बचेगा जहां इस खतरनाक रेडिएशन की पहुंच नहीं होगी।

Previous articleक्या दीपिका पादुकोण नहीं बनेगी बेजु बावरा की हीरोइन
Next articleदूसरे बेटे का नाम ‘जहांगीर’ रखने पर करीना और सैफ हुए ट्रोल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here