आज हमारा देश 75 वा स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। जैसा की सब जानते ही है राष्ट्रगान और राष्ट्रीय गीत किसी भी देश की शान होते है। जिससे उस देश की पहचान का महत्व जुड़ा होता है। आप देश के राष्ट्रगान के बारे परिचित होंगे ही। लेकिन आज हम आपको देश का राष्ट्रीय गीत किसके द्वारा लिखा गया। इस बात से रूबरू करवाने जा रहे है। जिसने आजादी के समय लोगों के मन में देशभक्ति की अलख जगा दी थी।

हमारा राष्ट्रीय गीत यानी वंदेमातरम जिसकी रचना बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय ने की। बता दें कि 26 जून 1838 को बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय का जन्म हुआ। साथ ही साथ बंकिम चंद्र ने भारतवासियों को अंगेजो के खिलाफ आंदोलन के लिए अपने द्वारा रची रचनाओं से काफी प्रेरित किया। वहीं इनकी मृत्यु 8 अप्रैल, 1894 को हुई थी।

भारत में उस समय ब्रिटिश शासन का राज था। बता दें कि उनका शासन होने कारण हर समारोह में ब्रिटेन का ही गीत ‘गॉड! सेव द क्वीन’ गाया जाता था। लेकिन बंकिमचंद्र को यह बिल्कुल भी नहीं भाया और उन्होंने वंदेमातरम की रचना कर डाली। बाद में इस गीत को भारत के सभी समारोह में अनिवार्य कर दिया।

गौरतलब है कि बंकिम चन्द्र तब सरकारी नौकरी किया करते थे। उन्होंने सन् 1876 में एक गीत लिखा और उसका शीर्षक था ‘वंदेमातरम’। साथ ही साथ उन्होंने अपनी किताब आनंदमठ में भी इस गीत को संस्कृत भाषा में शामिल किया।

हालांकि, इस गीत को पहली बार सन् 1905 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वाराणसी अधिवेशन के द्वारा गाया गया। कम समय में यह गीत पूरे देशभर में लोकप्रिय हो गया। इसी के साथ यह गीत अंग्रेज शासन के खिलाफ क्रांति का प्रतीक बन गया था।

जब सभी अधिवेशन में यह गीत गाया जाने लगा। सन् 1938 में मोहम्मद अली जिन्ना ने इस गीत के विरोध में आए। इसी के साथ ही मुसलमानों ने वंदे मातरम को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार करने से साफ इनकार कर दिया। इतना ही नहीं मुस्लिम लीग के एक नेता ने यह भी कह दिया था कि राष्ट्रवाद की आड़ में, भारत में हिंदू राष्ट्रवाद का प्रचार प्रसार किया जा रहा है।

बता दें कि मुस्लिम लीग के नेताओं का गीत को लेकर विरोध कविता के बाद के छंद में देवी दुर्गा के संदर्भों पर आधारित था। जहां यह कहा गया है कि “तू दुर्गा, महिला और रानी”। बता दें कि बंकिम चंद्र ने अपने देश की तुलना भारत में सम्मानित नारीत्व के विभिन्न रूपों से की थी। इसे लेकर मुस्लिम लीग ने जमकर विरोध भी किया।

Previous article27 अगस्त को रिलीज होगी हिंदी फिल्म जगत के महानायक अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी की नई फिल्म
Next articleभारत के अलावा यह देश भी मानते है 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here